क्रिप्टो करेंसी और बिटकॉइन क्या है? यह कैसे काम करता है और इससे पैसा कैसे कमाएं?

4.7
(44)

Last Updated on July 24, 2021 by WikiHindi

बिटकॉइन एक ऐसा नाम जिसके बारे में आजकल के युवा से बुर्जुर्ग वाग के लोग सभी जानना चाहते हैं की आखिर ये है क्या? और लगभग प्रत्येक दिन इससे जुडी ख़बरें अखबारों में, टीवी पर समाचार चैनलों में और इंटरनेट पर कहीं न कहीं किसी न किसी रूप में देखने को मिल ही जाता है।

बिटकॉइन क्या है? यह कैसे काम करता है? और इससे पैसा कैसे कमाएं?
बिटकॉइन

बिटकॉइन से जुड़े कई सारे सवाल आपके मन में होंगे जैसे की बिटकॉइन क्या है? यह काम कैसे करता है? इसके पैसे कैसे कमाए जा सकते हैं? इसके फायदे और नुकसान क्या है? इसमें निवेश करना सही रहेगा या नहीं? भारत में बिटकॉइन का भविष्य क्या है? ऐसे अनेकों सवाल आपके मन को विचलित कर रहे होंगे और आपके हर एक सवाल और उसे जुडी शंका को इस लेख के द्वारा दूर करने की कोशिश की जाएगी।

बिटकॉइन को जानने और समझने से पहले हमें यह समझाना होगा की यह क्रिप्टो करेंसी क्या है?

क्रिप्टो करेंसी क्या है?

जिस प्रकार से हमारे देश भारत में रुपये का चलन है और यही हमारे देश की मुद्रा भी है तो ठीक उसी प्रकार से क्रिप्टो करेंसी भी मुद्रा का एक दूसरा रूप है जो रुपये की तरह भौतिक अवस्था में न होकर यह एक आभासी मुद्रा है। इसका प्रचलन और इस्तेमाल इंटरनेट की दुनिया में किसी भी वस्तु के लेन-देन या फिर किसी प्रकार की सेवाओं के उपयोग के बदले में किया जाता है।

क्रिप्टो करेंसी काम कैसे करता है?

क्रिप्टो करेंसी में ब्लॉकचैन तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है और ब्लॉकचैन एक तरह से वि-केंद्रित तकनीक का इस्तेमाल कर काम करता है। जिसमे क्रिप्टो करेंसी से जुड़ी जानकारियां और इसके लेन-देन कई सारे कंप्यूटर में सुरक्षित होता और यही वजह से है की इस तकनीक को हैक करना मुश्किल होता है और लोगो के पैसे सुरक्षित रहते हैं।

बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन एक प्रकार की डिजिटल मुद्रा है जिसका इस्तेमाल ऑनलाइन खरीदारी अथवा सेवाओं में पैसों के स्थान पर किया जाता है और यह पूरी तरह से ब्लॉक चैन तकनीक पर आधारित है। Bitcoin की खोज वर्ष 2009 में एक रहस्यमय व्यक्ति जिसका नाम सतोशी नाकामोतो है द्वारा किया गया था। सतोशी नाकामोतो, यह नाम अभी भी रहस्यमय इसलिए बना हुआ है क्युकी Bitcoin के खोज कर्त्ता कहाँ है है और किस हालात में है इसके बारे में कोई कुछ है जानता।

बिटकॉइन का प्रचलन बाकी भौतिक मुद्रा की तुलना अत्यधिक इसलिए हो रहा है क्यूंकि यह आपको भौतिक मुद्रा के अपेक्षा में कम लेन-देन शुल्क पर ही आपको इसके इस्तेमाल की सुविधा देताहै, और इस वजह से आपकी गाढ़ी कमाई के बहुत सारे पैसे बचते हैं। बिटकॉइन की साड़ी लेन-देन को कंप्यूटर द्वारा डिजिटली सत्यापित किया जाता है और तब कहीं जाकर इससे जुडी लेन-देन की प्रक्रिया को पूरी की जाती है।

आपकी जानकारी के लिए यह बता दें की बिटकॉइन दुनिया के किसी भी देश के कोई भी बैंक या किसी भी देश की सरकार द्वारा अभी तक जारी या फिर सत्यापित नहीं किया गया है और न ही ही Bitcoin की वस्तु के रूप में इसकी कोई महत्व है।

बिटकॉइन माइनिंग क्या है?

बिटकॉइन माइनिंग एक प्रकार का जरिया है जिसका इस्तेमाल इंटरनेट से बिटकॉइन को ढूंढ़ने में किया जाता है। बिटकॉइन माइनिंग यह शब्द देखने और सुनने में भले ही काफी आसान लगते हो पर वास्तविकता इससे बिलकुल ही उलट है। बिटकॉइन की माइनिंग के दौरान आपको कुछ कठिन और जटिल कंप्यूटर से जुड़ी पहेलियों को सुलझाना पड़ता है और फिर तब जाकर आपको Bitcoin के कुछ ब्लॉक मिलते हैं और फिर आपके द्वारा खोजी गयी ब्लॉक जाकर ब्लॉकचैन में जुड़ जाती है।

बिटकॉइन क्या है? यह कैसे काम करता है? और इससे पैसा कैसे कमाएं?
बिटकॉइन माइनर

बिटकॉइन की माइनिंग करने वाले लोगो को बिटकॉइन माइनर कहा जाता है और इन्हे Bitcoin की माइनिंग के फलस्वरूप 2,10,000 ब्लॉक्स की खोज करने पर लगभग इसके आधे के बराबर वैल्यू की Bitcoin इनाम स्वरुप दी जाती है, और यही कारण है की Bitcoin माइनर एक-एक महीने में लाखों रूपए की कमाई केवल अपने कंप्यूटर के सामने बैठकर करते हैं।

बिटकॉइन कौन से देश की करेंसी है?

वर्तमान में बिटकॉइन किसी भी देश की आधिकारिक करेंसी नहीं और न ही किसी देश की Bitcoin को सत्यापित करती है। लेकिन इनसब के बावजूद यहाँ आपकी जानकारी के लिए बताऊँ तो हाल ही में सेंट्रल अमेरिका का एक छोटे सा देश El Salvador आधिकारिक रूप से Bitcoin को वर्ष 2021 से अपनाने वाला दुनिया की सबसे पहला देश बन चूका है।

बिटकॉइन का इतिहास

बिटकॉइन का इतिहास बहुत ज़्यादा पुराना तो नहीं लेकिन फिर भी यहाँ हम एक-एक कर सारांश के रूप में Bitcoin के इतिहास को जानने की कोशिश करेंगे।

8 अगस्त 2008Bitcoin का सबसे पहले ऑफिसियल डोमेन इंटरनेट पर दर्ज़ किया गया जो की Bitcoin.org के नाम से था। वैसे तो आप किसी भी दर्ज़ डोमेन की जानकारी आसानी से इंटनेट से ले सकते है पर यह डोमेन WhoisGuard Protected था इसलिए आप इस चीज़ का पता नहीं लगा सकते की इसे किसके द्वारा ख़रीदा गया है।
31 अक्टूबर 2008इसी दिन कुछ व्यक्तियों के समूह द्वारा सातोशी नाकामोतो नामक रहश्यमय नामक इंसान के नाम का इस्तेमाल कर यह जानकारी दी गयी की Bitcoin एक नए प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक कॅश सिस्टम है जो पूरी तरह से भरोसेमंद है और इसमें किसी तीसरी पार्टी का हाथ नहीं होगा और यह बिलकुल सुरक्षित है।
3 जनवरी 2009Bitcoinके सबसे पहले ब्लॉक को माइन किया गया जो ब्लॉक-0 के नाम से जाना जाता है वही कई लोग इसे Genesis Block के नाम से भी जानते हैं जिसपर अंग्रेजी के कुछ शब्द भी लिखे थे और वह इस प्रकार थे “The Times 03/Jan/2009 Chancellor on brink of second bailout for banks.”
8 जनवरी 2009क्रिप्टोग्राफ़ी मेलिंग लिस्ट पर सबसे पहले बिटकॉइन सॉफ्टवेयर को लिस्ट किया गया था।
9 जनवरी 2009ब्लॉक-1 को माइन किया गया और और तब से लेकर यह प्रक्रिया अभी भी जारी है।
बिटकॉइन का इतिहास

भारत में बिटकॉइन कैसे खरीदें

अगर आप भारत में रहते हुए बिटकॉइन में निवेश करना चाहते हो या फिर इसे खरीदना चाहते हो तब यह अब केवल अब 5 मिनट में संभव है। ऐसे कई सारे ऐप्स गूगल के प्ले स्टोर और साथ ही एप्पल के ऐप्स स्टोर पर उपलब्ध है जिसके ज़रिये आप केवल Bitcoin में निवेश ही नहीं बल्कि इस करेंसी को आप पेमेंट के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। Bitcoin की खरीदारी करने या फिर इसमें निवेश करने के लिए आपको केवल तीन चीज़ों की जरूरत पड़ेगी पहला आपके नाम पर जारी किया हुआ पैन कार्ड, दूसरा आपके नाम पर ज़ारी आधार कार्ड और तीसरा आपका एक सेल्फी अर्थात एक फोटो।

प्ले स्टोर पर उपलब्ध बिटकॉइन निवेश की सुविधा देने वाले स्मार्टफोन ऐप्स

निचे हमने प्ले स्टोर पर मौजूद पांच सबसे अच्छे ऐप्स का नाम दिया है जिसे आप अपने स्मार्टफोन के प्ले स्टोर ऐप में सर्च करके डाउनलोड कर सकते हैं और आज बल्कि अभी से Bitcoin में निवेश करने की शुरुआत कर सकते हैं:

  • Wazir X-Bitcoin, Crypto Trading Exchange India
  • CoinSwitch: Bitcoin, Crypto Trading Exchange India
  • CoinDCX  Go: Bitcoin, cryptocurrency investment app
  • Zebpay Bitcoin and Cryptocurrency Exchange
  • Binance

बिटकॉइन का उपयोग

वैसे देखा जाए तो बिटकॉइन का मुख्य रूप से एक ही इस्तेमाल है और वह है ऑनलाइन पेमेंट पर यहाँ हमारी यही कोशिश होगी की आपको इसके अन्य फायदों से भी रूबरू करवा सकें और कुछ ऐसी जानकारी दे जो आपको आपके लिए फायदेमंद हो।

बिटकॉइन का उपयोग भुगतान के रूप में

बिटकॉइन का उपयोग मुख्य रूप से किसी वस्तु की ऑनलाइन खरीदारी या फिर किसी सेवा के उपभोग के पश्चात भुगतान के रूप में किया जाता है, और Bitcoin से भुगतान का सबसे बड़ा फायदा यह है की बाकी भुगतान की तुलना में इसमें इसमें न के बराबर Service Charge या किसी अन्य प्रकार के अतिरिक्त शुल्क लगते हैं।

अब तो विदेशों में लोग Bitcoin को अपने दूकान पर Scan & Pay के रूप में भी इस्तेमाल करने लगे हैं जिससे इस कॉइन का प्रचलन और उपयोग काफी तेज़ हो चूक है।

बिटकॉइन से पैसा कैसे कमाएं

क्या आप जानते हैं की बिटकॉइन का उपयोग आप पैसे कमाने में भी कर सकते हैं इसकये लिए आपको शुरूआती दौर में 5 से 6 लाख रुपये की पूँजी की जरूरत पड़ेगी और आप एक Bitcoin माइनर के रूप में कंप्यूटर के सामने घर बैठे ही लाखो रूपए की कमाई आसानी से कर सकते हैं।

इसके लिए आपको कंप्यूटर का बहुत बड़ा ज्ञाता होने की जरूरत नहीं है आप Bitcoin माइनिंग का सेटअप अपने घर पर किसी प्राइवेट एजेंसी द्वार करवा सकते हैं और थोड़ी सी ट्रेनिंग के पश्चात ही आप बिटकॉइन माइनर बनकर इससे अच्छी-खासी कमाई कर सकते हैं।

बिटकॉइन के फायदे

बिटकॉइन क्या है और यह कैसे काम करता है इसकी सारी जानकारी ऊपर के लेख से मिल गयी होगी यहाँ हम इस बात पर गौर कर्नेगे की Bitcoinके आखिर फैयदे क्या-क्या हैं?

  • स्वायत्तता: चूँकि बिटकॉइन एक डिजिटल मुद्रा है इसलिए यहां आपको भौतिक मुद्रा से कहीं ज़्यादा नियंत्रण मिलता है और आप अपने खर्चे को काफी हद तक नियंत्रित भी कर पाते हैं।
  • पीयर टू पीयर: इसका अर्थ यह है कीBitcoin के नेटवर्क में आप किसी को भी दुनिया के किसी भी कोने में बिना किसी बाहरी दखल अंदाज़ी के और बिना ही किसी अतरिक्त शुल्क का भुगतान किये बिटकॉइन से पेमेंट कर सकते हैं।
  • बैंकिंग शुल्क का झंझट ख़त्म: बिटकॉइन के चलन का सबसे महत्वपूर्ण कारण है की इसमें बाकी बैंकिंग लेन-देन की तरह किसी भी प्रकार की कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगती और आप आसानी से अच्छे-खासे पैसे को बचा पाते हैं।
  • विदेशी पेमेंट पर न के बराबर शुल्क: चूँकि Bitcoin में किसी तीसरे पार्टी जैसे किसी सरकार या मध्यस्ता का कोई भूमिका नहीं होता इसलिए इसके ज़रिये विदेशी पेमेंट के दौरान काफी पैसे बचते हैं।
  • स्मार्टफोन से इंस्टेंट पेमेंट: बिटकॉइन में निवेश और वॉलेट जैसी सुविधा देने वाले ऐप्स के जरिये आप केवल कुछ ही सेकंड में और कुछ क्लिक के ज़रिये ही Bitcoin से पेमेंट कर सकते हैं। इसके लिए आपके पास केवल एक स्मार्टफोन और उसमे इंटरनेट की जरूरत पड़ती है।

निष्कर्ष

इस लेख के माध्यम से आपने यह जाना की बिटकॉइन क्या होता है? इसके फायदे नुसकान, और यह कैसे काम करता है। इनसब के अलावा आपके मन में Bitcoin को लेकर कोई सवाल हो तब आप निचे कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं, और हमारी कोशिश रहेगी की जल्द से जल्द आपके सवालो के उत्तर दे। हजमारे द्वारा प्रस्तुत इस लेख को पढ़ने के लिए धन्यवाद।

FAQ’s

बिटकॉइन माइनिंग क्या है?

बिटकॉइन माइनिंग एक प्रकार का जरिया है जिसका इस्तेमाल इंटरनेट से बिटकॉइन को ढूंढ़ने में किया जाता है। बिटकॉइन माइनिंग यह शब्द देखने और सुनने में भले ही काफी आसान लगते हो पर वास्तविकता इससे बिलकुल ही उलट है। बिटकॉइन की माइनिंग के दौरान आपको कुछ कठिन और जटिल कंप्यूटर से जुड़ी पहेलियों को सुलझाना पड़ता है और फिर तब जाकर आपको Bitcoin के कुछ ब्लॉक मिलते हैं और फिर आपके द्वारा खोजी गयी ब्लॉक जाकर ब्लॉकचैन में जुड़ जाती है।

बिटकॉइन कौन से देश की करेंसी है?

वर्तमान में बिटकॉइन किसी भी देश की आधिकारिक करेंसी नहीं और न ही किसी देश की Bitcoin को सत्यापित करती है। लेकिन इनसब के बावजूद यहाँ आपकी जानकारी के लिए बताऊँ तो हाल ही में सेंट्रल अमेरिका का एक छोटे सा देश El Salvador आधिकारिक रूप से Bitcoin को वर्ष 2021 से अपनाने वाला दुनिया की सबसे पहला देश बन चूका है।

आपको जानकारी कैसी लगी?

औसत वोट 4.7 / 5. वोट दिया गया: 44

आपने अब तक वोट नहीं दिया, कृपया वोट दें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

शेयर करने के लिए कोई एक चुने

6 thoughts on “क्रिप्टो करेंसी और बिटकॉइन क्या है? यह कैसे काम करता है और इससे पैसा कैसे कमाएं?”

Leave a Comment