सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम क्या है? पात्रता और फायदे

4.5
(288)

Last Updated on December 12, 2021 by WikiHindi

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS) अर्थात वरिष्ठ नागरिक बचत योजना निश्चित निवेश पर आय अर्जित करने का एक बेहतरीन विकल्प है। इस स्कीम में केवल उन्ही लोगों को निवेश करने की मौका मिलती है, जिनकी उम्र 60 साल से अधिक हो। अर्थात ये स्कीम केवल बुजुर्गों के लिए है।

इस लेख के माध्यम से आप जानेंगे की सीनियर सिटीजन स्कीम क्या है? और किस प्रकार आप इस स्कीम में निवेश कर सकते हैं? और साथ इससे जुड़ी बाकी अन्य जानकारियां जैसे इसके ब्याज दर, पात्रता, फायदे, मचौरिटी इत्यादि की जानकारी इस लेख के माध्यम से आपको दी जाएगी।

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम क्या है?

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम सरकार द्वारा समर्थित सेवानिवृत नागरिकों के लिए एक निवेश से जुड़ा स्कीम है। इस स्कीम को इस उद्देश्य से लाया गया था की रिटायरमेंट के बाद लोग इसमें अपनी जमाराशि सुरक्षित रखकर कुछ निश्चित आय का उपार्जन कर सकें और रिटायरमेंट के बाद बुढ़ापे का जीवन निश्चिंत होकर बिता सकें। चूँकि ये स्कीम सरकार द्वारा समर्थित योजनाओं में से एक है, इसलिए इस स्कीम में निवेश करना सुरक्षित माना जाता है।

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम की पात्रता

अगर निचे दिए गए बिंदुएं आप पर लागूं होती है, तब आप इस स्कीम में निवेश करने के पात्र माने जाते हैं।

  • वैसे भारतीय नागरिक जिनकी उम्र 60 वर्ष या इससे अधिक हो।
  • 55 से 60 वर्ष के बिच सेवानिवृत हुए वैसे शक्श जिन्होंने स्वैक्षिक सेवानिवृत लिया हो। *
  • वैसे सुरक्षा कर्मी जिनकी सेवानिवृति 50 वर्ष से अधिक और 60 वर्ष से कम आयु में हुई हो। *
  • इस स्कीम में हिन्दू अविभाजित परिवार निवेश करने के पात्र नहीं हैं।
  • इस स्कीम में NRI निवेश करने के पात्र नहीं हैं।

* सेवानिवृत प्राप्त करने के ठीक एक महीने के भीतर ही निवेश करनी पड़ेगी।

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में जरूरी डाक्यूमेंट्स या दस्तावेज़

इस स्कीम के तहत खाता खुलवाने के लिए निवेशक को निम्नलिखित कागजातों की जरूरत पड़ती है।

  • पासपोर्ट साइज दो फोटो।
  • बैंक या पोस्ट ऑफिस से लेकर भरा हुआ Form A.
  • पहचान पत्र से जुड़े दस्तावेज़ जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट इत्यादि।
  • निवास प्रमाण पत्र से जुड़े दस्तावेज़ जैसे बिजली बिल।
  • आयु परम्माण पत्र से जुड़े कागजात जैसे जन्म प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, वोटर आईडी या फिर सीनियर सिटीजन कार्ड इत्यादि।
  • जमा किये जाने वाले सभी दस्तावेज़ स्व-प्रमाणित अर्थात Self Attested होने आवश्यक हैं।

मिलता जुलता लेख: e-PAN कार्ड क्या है? डाउनलोड कैसे करें?

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम खाता कैसे खोलें?

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में खाता पोस्ट ऑफिस के किसी भी ब्रांच में या फिर किसी भी बैंक में खोला जा सकता है। इस स्कीम में निवेश करने के लिए निवेशक को निचे दिए गए प्रक्रिये से गुज़ारना पड़ता है।

  • सबसे पहले अपने किसी नज़दीकी बैंक या पोस्ट ऑफिस के ब्रांच में जाएँ।
  • KYC डॉक्यूमेंट के साथ इस स्कीम में खाता खोलने के लिए पूरी जानकारी के साथ फॉर्म को भरें और बैंक अटवा पोस्ट ऑफिस में जमा कराएं।
  • अपनी जरूरत के अनुरूप नोईमिनी को चुने।
  • चेक के रूप में जमाराशि बैंक या पोस्ट ऑफिस के काउंटर पर जमा कराएं।

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के ब्याज दर

इस स्कीम के तहत दिया जाने वाला ब्याज दर किसी भी बचत खाता या फिर किसी भी बैंक में एफडी पर मिलने वाले ब्याज दर से काफी ज़्यादा होता है। प्रत्येक तिमाही में इस योजना के तहत ब्याज दर दिया जाता है।

  • पहला तिमाही: अप्रैल से जून
  • दूसरा तिमाही: जुलाई से सितम्बर
  • तीसरा तिमाही: अक्टूबर से दिसंबर
  • चौथा तिमाही: जनवरी से मार्च
वित्तीय वर्षतिमाहीब्याज दर
2020-2021तीसरा7.4
2020-2021दूसरा7.4
2020-2021पहला7.4
2019-2020चौथा8.6
2019-2020तीसरा8.6
2019-2020दूसरा8.6
2019-2020पहला8.7
2018-2019चौथा8.7
2018-2019तीसरा8.7
2018-2019दूसरा8.3
2018-2019पहला8.3
2017-2018चौथा8.3
2017-2018तीसरा8.3
2017-2018दूसरा8.3
2017-2018पहला8.4

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के फायदे और इसकी विशेषता

SCSS स्कीम के तहत मिलने वाले कुछ महत्वपूर्ण फायदे और इसकी विशषताएँ कुछ इस प्रकार है:

  • नॉमिनी: खाते खुलवाते समय इस कहते में किसी को भी नॉमिनी के रूप में जोड़ा जा सकता है।
  • जमाराशि: इस स्कीम के तहत केवल शुरुआत में ही जमाराशि डाली जा सकती है। कम से कम जमाराशि 1000 रूपए और अधिक से अधिक 15 लाख रूपए। 1 लाख से निचे की रकम को कैश के रूप में जमा किया जा सकता है। जबकि इससे अधिक राशि को केवल चेक के रूप में ही जामा किया जा सकता है।
  • ट्रांसफर: इस स्कीम के तहत खोले गए खाते को एक बैंक से पोस्ट ऑफिस या पोस्ट से बैंक में ट्रांसफर बड़ी आसनी से किया जा सकता है।

मिलता जुलता लेख: नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट स्कीम क्या है? ब्याज दर, पात्रता

  • मचौरिटी: इस स्कीम में अधिकतम 5 वर्षो के लिए निवेश किया जा सकता है। अगर निवेशक चाहे तब ये अवधी पूरा होने पर भी अगले तीन सालों तक इसमें निवेश किये गए राशि को छोड़कर इससे लाभ कमा सकता है। इसके लिए केवल समय पूरा होने वाले अंतिम वर्ष में अतिरिक्त फॉर्म को भरने की जरूरत पड़ती है।
  • समय से पहले निकासी: इस स्कीम में अवधी पुर होने से पहले भी जमाराशि को निकाला जा सकता है। ये सुविधा एक साल पूरा होने के बाद निवेशक को मिलती है। समय से पहले निकाली गयी राशि पर बैंक द्वारा कुछ चार्ज वसूले जा सकते हैं।

अंतिम शब्द

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम क्या है? साथ ही आपने इससे जुड़ी पात्रता और इसके फायदे के बारे में भी जाना। इस लेख से सम्बंधित किसी प्रकार की कोई शिकायत, सुझाव या सवाल हो तब निचे कमेंट करके हमें अवश्य बताएं, धन्यवाद्।

FAQs

Q: सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पर ब्याज दर क्या है?

उत्तर: 2020-2021 के Q3 में 7.4%

Q: सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम को पोस्ट ऑफिस में खोला जा सकता है?

उत्तर: इसे स्कीम में बैंक और पोस्ट ऑफिस दोनों के जरिये ही निवेश किया जा सकता है।

आपको जानकारी कैसी लगी?

औसत वोट 4.5 / 5. वोट दिया गया: 288

आपने अब तक वोट नहीं दिया, कृपया वोट दें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Leave a Comment