कांटेक्ट लेंस क्या है? प्रकार, इफेक्ट्स, फायदे और नुकसान

4.5
(267)

Last Updated on September 29, 2021 by WikiHindi

स्टाइल से लेकर आँखों की रौशनी को ठीक करने तक में कांटेक्ट लेंस की सेल में पिछले कुछ सालों में काफी वृद्धि देखि गयी है। चाहे कोई युवा हो या हो कोई पेशेवर इंसान हर कोई चश्मे की बोझ से छुटकारा पाना चाहता है और यही कारण है की कांटेक्ट लेंस का उपयोग पिछले कुछ सालों से काफी बढ़ गया है। इस लेख के माध्यम से आप जानेंगे की कांटेक्ट लेंस क्या है? और साथ ही इसकी कीमत, इफेक्ट्स तथा इसके फायदे और नुकसान के बारे में भी आप जानोगे।

कांटेक्ट लेंस क्या है?

कांटेक्ट लेंस या फिर केवल इसे कॉन्टेक्ट्स कहें बात बराबर ही है। कांटेक्ट लेंस काफी पतला सा एक लेंस होता है जिसे आँखों के रेटिना के ऊपर रखकर या लगाकार इसका इस्तेमाल किया जाता है। वर्तमान समय में इसे दुनिया भर के 150 मिलियन से ज़्यादा लोगों के द्वारा इस्तेमाल में लिया जाता है।

इस ओस्कुलर प्रोस्थेटिक उपकरण का उपयोग करने के कई उद्देश्य हो सकते हैं जैसे चश्मे के बदले, कॉस्मेटिक कारणों के वजह से या फिर किसी अन्य चिकित्सा कारणों की वजह से।

कांटेक्ट लेंस क्या है प्रकार, इफेक्ट्स, फायदे और नुकसान
कांटेक्ट लेंस क्या है प्रकार, इफेक्ट्स, फायदे और नुकसान

कांटेक्ट लेंस के प्रकार

कांटेक्ट लेंस को आमतौर पर दो भागों में विभाजित किया जाता है पहला सॉफ्ट कांटेक्ट लेंस और दूसरा रिजिड कांटेक्ट लेंस। इसके अलावा कांटेक्ट लेंस के और भी कई प्रकार हैं।

सॉफ्ट कांटेक्ट लेंस

वैसे कांटेक्ट लेंस जो नरम और लचीले पदार्थ से बने होते हैं और इनके जरिये आँखों की कॉर्निया तक आसानी से ऑक्सीजन पहुँचती है, उसे ही सॉफ्ट कांटेक्ट लेंस के नाम से जाना जाता है। इस लेंस को आँखों में लगाना और इसे सेट या समायोजित करना रिजिड लेंस के मुकाबले काफी आसान होता है। अब नयी प्रकार की सॉफ्ट लेंस में सिलिकॉन-ह्य्द्रोज़ेल को शामिल किया जाता है जिससे आँखों की कॉर्निया तक अधिक मात्रा में ऑक्सीजन पहुँचती है।

रिजिड कांटेक्ट लेंस

वैसे कांटेक्ट लेंस जो अधिक टिकाऊ और और कठोर होते हैं, उसे रिजिड कांटेक्ट लेंस के नाम से जाना जाता है। इससे आमतौर दिखने वाली चीज़ें जयदा क्लियर होती है। इसके रख-रखाव में कम पैसे खर्च होते हैं। वहीँ सॉफ्ट कांटेक्ट लेंस की तुलना में यह लेंस ज़्यादा समय तक चलता है।

कांटेक्ट लेंस के फायदे

दृष्टि से लेकर कॉस्मेटिक तक ऐसे कई सारे कारण हो सकते हैं जिसके लिए एक आम इंसान को कांटेक्ट लेंस की आवश्यकता पर सकती है। लोगों की जरूरत के अनुसार बाजार कई तरह के कांटेक्ट लेंस मौजूद भी हैं। जिसके अपने-अपने अनेकों फायदे हैं। उन्ही फायदों में से कुछ मुख्य फायदे इस प्रकार हैं।

1. आरामदायक

चश्मे की तुलना में कांटेक्ट लेंस को पहनना काफी आसान और सुविधाजनक होता है। चश्मे की तुलना में कांटेक्ट लेंस से व्यापक दृष्टि का अहसास होता है। भरी-भरकम और बड़े से चश्मे का इस्तेमाल करने के बजाय यह छोटी सी लेंस का के इस्तेमाल से आपके कानों को भी काफी आराम मिलता है।

2. जरुरत के अनुरूप लेंस उपलब्ध है

कांटेक्ट लेंस की सबसे बड़ी खासियत यही है की इसमें लोगों की जरुरत के अनुरूप कांटेक्ट लेंस मौजूद हैं। आपको जो आपके चेहरे के अनुसार अच्छा लगे आप उस रेंज के कांटेक्ट लेंस अपने लिए काहीद क्र इस्तेमाल कर सकते हो। केवल यही नहीं कुछ कांटेक्ट लेंस प्रतिदिन के इस्तेमाल के लिए बने होते हैं तब वहीँ कुछ लेंस ‘इस्तेमाल करो और फेंको’ वाले सिद्धांत पर बने होते हैं।

3. सर्जरी की आवश्यकता नहीं

अगर आप अपने आँखों की सर्जरी करवाने से डरते हैं, तब वैसे हालात में कांटेक्ट लेंस दर्द रहित आँखों की दृष्टि बढ़ाने में आपकी मदद कर सकता है। हालांकि आप अपने जरूरत और गंभीरता के अनुरूप अपने आँखों के चिकित्सक से इस बाबत सलाह मसवरा अवश्य कर लें।

4. उपस्तिथि में चार-चाँद लगता है

चश्मों की तुलना में हमेशा से ही कांटेक्ट लेंस एक इंसान को ज्यादा आकर्षक के साथ ही उसके अंदर आत्मविश्वास भी जगाती है।

कांटेक्ट लेंस के नुकसान या कमियां

हालाँकि कॉन्टेक्ट्स, चश्मे का सबसे बेहतर विकल्प माना गया है। क्योंकि यह केवल आँखों की रौशनी ही ठीक नहीं करता बल्कि यह आपको आकर्षक भी बनाता है और साथ ही आपको चश्मे से छुटकारा दिलाता है। लेकिन किसी भी सिक्के के हमेशा दो पहलु होते हैं। ठीक उसी तरह कॉनटैक्ट लेंस के फायदे हैं तब दूसरी तरफ इसके नुकसान भी हैं और वह कुछ इस प्रकार हैं।

1. आँखों में परेशानी और समस्या

एक तरफ कांटेक्ट लेंस काफी ज़्यादा सुविधाजनक है तब वहीँ दूसरी तरफ यह आपको भारी परेशानी में भी डाल सकता है। क्योंकि जो लोग आमतौर पर कांटेक्ट लेंस का इस्तेमाल करते हैं उन्हें अक्सर कॉर्निया का संक्रमण होने का खतरा बना रहता है, जो केराटाइटिस के नाम से जाना जाता है।

2. ऑक्सीजन को आँखों तक पहुंचने में रोकता है

इस बात की जानकारी काफी कम लोगों को होगी की हमारे आँखों को भी ऑक्सीजन की आवश्यकता पड़ती है। कही न कहीं कांटेक्ट लेंस आँखों के लिए आवश्यक ऑक्सीजन की जरुरत को पूरी करने में छती पहुंचाता है अर्थात इसमें बाधा डालता है। जिससे लोगों की आँखों में सूखापन और खुजली जैसी समस्या भी देखि जाती है।

3. स्वच्छता का ध्यान रखना पड़ता है

कन्सेक्ट लेंस का उपयोग करने वालों के बीच आँखों का संक्रमण का खतरा काफी आम होता है। सबसे ज्यादा जोखिम तो वयस्कों में होता है। कांटेक्ट लेंस का उपयोग करने वालों को स्वच्छता का काफी ख्याल रखना पड़ता है। वरना इससे आपके आँखों को काफी नुकसान हो सकता है।

4. अन्य नेत्र रोग

अगर आप सोने से पहले कांटेक्ट लेंस को अपनी आँखों से निकालना अक्सर बुल जाते हो तब आपको अब सावधान होने की जरुरत है। क्योंकि जो लोग लम्बे समय तक कांटेक्ट लेंस पहनते हैं, उनकी आखों में वायरस और बैक्टेरिया विकसित होने का खतरा काफी बढ़ जाता है।

अंतिम शब्द

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की कांटेक्ट लेंस क्या है? साथ ही आपने इसके प्रकार, इफेक्ट्स, फायदे और नुकसान और कमियां को भी जाना। लेख से सम्बंधित किसी तरह की कोई सवाल, शिकायत या सुझाव आपके मन में हो तब निचे कमेंट करके हमें अवश्य बतलायें, धन्यवाद।

इसे भी पढ़ें:

आपको जानकारी कैसी लगी?

औसत वोट 4.5 / 5. वोट दिया गया: 267

आपने अब तक वोट नहीं दिया, कृपया वोट दें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

शेयर करने के लिए कोई एक चुने

Leave a Comment