इम्युनिटी क्या है? रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का सस्ता घरेलु उपाय

4.7
(56)

Last Updated on August 9, 2021 by WikiHindi

इम्युनिटी अथवा रोग-प्रतिरोधक क्षमता, कोरोना के इस दौर में इससे खुद को और अपने परिवार को बचाने का सबसे अचूक उपाय जिसे डॉक्टर के साथ ही WHO ने में सुझाया है । इस लेख में आपको इम्युनिटी अथवा रोग प्रतिरोधक क्षमता से जुड़ी हर सवालों के जवाब देने की कोशिश की जाएगी। लेख में आगे बढ़ने से सबसे पहले यह जानेंगे की इम्युनिटी क्या होता है और क्या इसे सच में बढ़ाया जा सकता है? और फिर यह जानने की कोशिश करेंगे की इसे बढ़ाने के घरेलु उपाय क्या हैं?

इम्युनिटी क्या है रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का सस्ता घरेलु उपाय
इम्युनिटी बढ़ाएं कोरोना से बचाएं

इम्युनिटी क्या है?

इम्युनिटी सिस्टम एक विशेष कोशिकाओं, ऊतकों, प्रोटीन और अंगों का एक नेटवर्क है जो एक साथ काम करते हुए, शरीर में संभावित किसी बाहरी वायरस, कीटाणु अथवा जीवाणु को नष्ट कर हमारे शरीर को सुरक्षित रखती है।

जब इंसान के शरीर में इम्युनिटी सिस्टम या कहें रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छे से काम करती है तब वह बैक्टीरिया, वायरस और परजीवी जैसे खतरों का खुद ही पता लगाती है और उसे समय रहते नष्ट कर हमारे शरीर को इसके चपेट में आने से बचाती है। हमारे शरीर में मुख्यतः दो प्रकार के इम्युनिटी सिस्टम होते है और वह कुछ इस प्रकार है:

  1. Innate: इस प्रकार की रोग प्रतिरोधक क्षमता इंसान को उसे जन्म होते ही मिल जाती है, और यह हमारे बचपन के दिनों अनेकों प्रकार की बैक्टीरिया और वायरस जैसे खतरों से हमें बचाता है।
  2. Adaptive: इस प्रकार के रोग प्रतिरोधक क्षमता इंसान में टिके के जरिये देकर शरीर में बनाई जाती है और यह तब कारगर होता है जब Innate नामक इम्युनिटी सिस्टम काम नहीं करती किसी बाहरी वायरस के विरुद्ध।

क्या इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ाया जा सकता है?

अगर हम इम्युनिटी सिस्टम के पहले प्रकार Innate की बात करें जोकि हमें जन्म से ही मिल जाता है तब उसे तो बढ़ाया नहीं जा सकता और आप यह बिलकुल भी चाहेंगे की यह बढे। जब Innate इम्युनिटी सिस्टम उत्तेजित होती तब अक्सर नाक बहना, सुस्ती, बुखार, अवसाद जैसी संशय सामने आती है।

अगर वहीँ हम बाते करें Adaptive इम्युनिटी सिस्टम की तब इसे ठीके के माध्यम से बढ़या जा सकता है। इस प्रकार के ठीके को उसी वायरस या बैक्टीरिया से बनाया जाता है जिसे यह आपके शरीर में नष्ट करने वाला होता है। लेकिन इस प्रकार के ठीके में इस्तेमाल वायरस या बैक्टीरिया के रूप हानिरहित होती है।

इम्युनिटी सिस्टम अथवा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले भोजन

रोगमुक्त और स्वस्थ्य रहे के लिए किसी भी इंसान की सबसे पहली और कहें आखिरी जरूरत भोजन और खान-पान के तरीके ही हैं। स्वस्थ्य और संतुलित आहार आपके इम्युनिटी अथवा रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी ठीक रखने में आपकी मदद करता है। निचे कुछ खाद्य पदार्थ दिए गए हैं जो आपके इम्युनिटी को ठीक करने में आपकी मदद करता है।

हल्दी

हल्दी भारतीय भोजन का सबसे महत्वपूर्ण मसालों में से एक, इसे लोग खाना बनाने में उपयोग में लाते हैं पर क्या आप जानते हैं की यह आपकी इम्युनिटी को बूस्ट करने में मदद करता है। यह सब संभव है हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नमक तत्व की मौजूदगी के कारण। करक्यूमिन में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लैमटॉरी तवा मौजूद होते हैं। जो आपकी इम्युनिटी को बढ़ाने में आपकी मदद करता है।

पालक

पालक आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने में काई अधिक मदद करता है क्यूंकि इसमें मजूद होते हैं कई प्रकार के पोषक तत्वा और एंटी ऑक्सीडेंट जो की कुछ इस प्रकार है:

  • विटामिन C
  • विटामिन E
  • फ्लवोनोइड्स
  • कैरोटेनॉयड्स

अदरक

अदरक का इस्तेमाल कई लोग कई प्रकार के व्यंजन और खान-पान में करते हैं इसके अलावा इसका उपयोग आमतौर पर भारत में चाय में और मिठाईओं में की जाती है। अदरक रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में काफी लाभदायक होता है क्यूंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। इसके साथ-साथ इसमें आंतो ऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं, जो शरीर के रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में आपकी मदद करता है।

सूर्यमुखी के बीज

सूर्यमुखी के बीज का इस्तेमाल आम तौर पर नास्ते में सलाद के साथ किया जाता है। यह आपके खाने में स्वाद तो लाता ही है साथ ही यह विटामिन E से भरपूर होता है जो की एक एंटी ऑक्सीडेंट है। बाकी अन्य एंटी ऑक्सीडेंट के तरह यह भी आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक की क्षमता को बढ़ाता है।

इसे भी पढ़ें: नींबू पानी सेवन के फायदे और नुकसान

ग्रीन-टी

ग्रीन टी एक ऐसा पेय पदार्थ है जिसमे कॉफ़ी से कम मात्रा में कैफीन पाया जाता है और यह लाल चाय के साथ-साथ कॉफ़ी का एक अच्छा विकल्प भी है। इसके इम्युनिटी सिस्टम बढ़ता है। इसमें पालक की तरह पाया जाने वाला फ्लवोनोइड्स आपको सर्दी के खतरे से भी बचाता है।

डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स और थेओब्रोमिन इंसान के शरीर में इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ाता है और साथ ही यह आपको फ्री रेडिकल्स से भी बचाता है। वैसे तो इसके संभवतः फायदे हैं लेकिन इसके नुकसान भी हैं, क्यूंकि इसमें अत्यधिक मात्रा में कैलोरी और फैट पाया जाता है अगर इसे नियंत्रित तरीके से लिया जाए तब यह आपके लिए फायदेमंद शाबित हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: डिप्रेशन क्या है? और कैसे होता है? इसके लक्षण और बचाव

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के आयुर्वेदिक तरीके

Source: संस्कार TV official YouTube Channel

अंतिम शब्द

इस लेख में आपने जाना की इम्युनिटी अर्थात रोग-प्रतिरोधक क्षमता क्या होती है? इसे कैसे बढ़ाया जा सकता है और कुछ खाद्य प्रदार्थ जो इसे बढ़ाने में आपकी मदद करता है। इस लेख से जुड़ी किसी प्रकार की कोई सवाल या मन में शंका हो तब निचे कमेंट कर हमें अवश्य बताएं, धन्यवाद।

आपको जानकारी कैसी लगी?

औसत वोट 4.7 / 5. वोट दिया गया: 56

आपने अब तक वोट नहीं दिया, कृपया वोट दें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

शेयर करने के लिए कोई एक चुने

Leave a Comment