शिलाजीत के फायदे – Shilajit Benefits in Hindi

शिलाजीत (Shilajit) का नाम सुनते ही लोगों के मन में ये विचार आने लगते हैं की ये सम्भोग शक्ति को बढ़ाने में मर्दों के लिए मददगार होता है। लेकिन काफी कम लोग इससे जुड़े बाकी दूसरे और काफी महत्वपूर्ण फायदों से अनजान होते हैं। इस लेख में शिलाजीत खाने से जुड़े अनेकों फायदों के बारे में बताया गया है।

शिलाजीत क्या है? | Shilajit in Hindi

Shilajit असल में काले और भूरे रंग का एक रेसिन पदार्थ होता है। जो आमतौर पर ऊँचे पर्वतीय क्षेत्रों में पाए जाते हैं। खासकर शिलाजीत हमारे देश भारत में हिमालय क्षेत्र में पाए जाते हैं। आपको बता दूँ हिमालय क्षेत्र में पाए जाने वाले शिलाजीत पूर्ण रूप से प्राकृतिक होते हैं।

शिलाजीत कैसे बनता है?

शिलाजीत के निर्माण की प्रक्रिया पूर्ण रूप से प्राकृतिक होती है। शिलाजीत का निर्माण लंबी अवधी तक भूमि के अंदर पौधों की अपघटन प्रक्रिया से होती है। ये ऊँचे हिमालय पर्वतों में पत्थरों के बिच पाई जाती है।

स्थानीय लोग इसे पहाड़ का पसीना मानते हैं। लेकिन असल में ये पहाड़ का पसीना नहीं, बल्कि लम्बे समय तक उच्च दाब एवं ताप के कारण पौधों के अवशेष अपघटित होकर तरल पदार्थ में परिवर्तित हो जाते हैं और फिर ये तरल पदार्थ Shilajit कहलाते हैं।

Shilajit और आयुर्वेद

शिलाजीत हमारे शरीर में मौजूद सप्त धातुओं को पोषण देता है। जिसके कारण आयुर्वेद में शिलाजीत को आरोग्य देने वाला बोला गया है। हमारे शरीर में मौजूद सप्त धातु:

  • रसा धातु
  • रक्त हेतु
  • मांसा धातु
  • मेधा धातु
  • अश्थी धातु
  • मज्जा धातु
  • शुक्रा धातु

शिलाजीत के फायदे | Shilajit Benefits in Hindi

आधुनिक विज्ञान के अनुसार शिलाजीत में 84 प्रकार के भिन्न-भिन्न तत्व पाए जाते हैं और इसमें भी फल्विक एसिड सबसे मुख्य होता है। जो हमारे स्वास्थ के लिए लाभदायक होते हैं। आमतौर पर Shilajit का इस्तेमाल आयुर्वेदिक उपचार के तौर पर किया जाता है। शिलाजीत हमारे लिए एक वरदान के रूप में काम करता है। इंसानो का लिए शिलाजीत का इस्तेमाल कई मायनो में फायदेमंद है।

कमजोरी और थकावट में मददगार

वैसे लोग जो अकसर थका हुआ सा महसूस करते हैं। जिसके कारण न उन्हें काम करने की इक्षा होती है और नाही उन्हें किसी काम को करने में मन लगता है। ऐसी परिस्तिथि में Shilajit इनलोगों के लिए काफी मददगार साबित होता है।

क्योंकि इसके सेवन से इंसान के शरीर में मौजूद कोशिकाओं में ऊर्जा का निर्माण तेज़ी से होता है और जिससे कमजोरी का एहसास हमें नहीं होता। थकावट की समस्या खासकर अधिक उम्र के लोगों को ज़्यादा होती है। ऐसे लोगों के लिए शिलाजीत काफी असरदार होता है और यह रामबाण की तरह काम करता है।

मिलता जुलता लेख: लंबाई(Height) कैसे बढ़ाएं

अल्ज़ाइमर में मददगार

शिलाजीत का इस्तेमाल वैसे मरीज़ों के लिए मददगार शाबित होता है, जो अल्ज़ाइमर की समस्या से जूझ रहे हैं। अल्ज़ाइमर मस्तिष्क से जुडी एक बिमारी है। जिसमे हमारे मस्तिष्क की न्यूरॉन सिकुड़ने लगती है। न्यूरॉन के सिकुड़ने के कारण Dementia और भूलने की बिमारी जैसी समस्या होने लगती है।

शिलाजीत का सेवन उनके लिए भी फायदेमंद होता है जो अल्ज़ाइमर से ग्रसित नहीं होते। इसके अलावा अल्ज़ाइमर की समस्या 55-60 वर्ष से अधिक आयु वालों में आमतौर पर देखी जाती है। तब इस परिस्तिथि में शिलाजीत का सेवन उनके लिए लाभकारी होता है।

अंततः ये कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा की शिलाजीत हमारे दिमागी सेहत के लिए काफी लाभकारी होती है।

मिलता जुलता लेख: बवासीर के लक्षण और बचाव के उपाय

शुक्राणु की संख्या बढ़ाता है

शिलाजीत मर्दों में पाई जाने वाली शुक्राणुओं की संख्या को भी बढ़ाने का काम करती है। शुक्राणुओं को बढ़ने के साथ ही इसे स्वस्थ बनाने में भी शिलाजीत काफी मददगार होता है।

वैसे मर्द Sperm Count की समस्या से जूझ रहा हो, तब ऐसी परिस्तिथि में भी Shilajit आपके लिए रामबाण उपाय हो सकता है। दूध में मिलाकर शिलाजीत का सेवन करने से मात्र से ही शुक्राणुओं की कमी से जूझ रहे मर्दों को फायदा होता है।

मर्दाना ताकत बढ़ाता है

शिलाजीत का एक छोटा चम्मच सेवन भी मर्दों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बढ़ाता है। जिससे मर्दों की सम्भोग शक्ति बढ़ जाती है।

ह्रदय के लिए लाभकारी

शिलाजीत का उपयोग हमारे ह्रदय के स्वास्थ के लिए काफी लाभकारी माना जाता है। High Cholesterol से ग्रसित मरीज़ों के लिए शिलाजीत रामबाण इलाज की तरह काम करता है।

असल में ह्रदय का शिलाजीत से कोई सीधा संबंध नहीं है लेकिन शिलाजीत का इस्तेमाल हमारे ह्रदय में मौजूद अतिरिक्त Cholesterol को कम करने में हमारी मदद करता है। जो अप्रत्यक्ष रूप से हमारे ह्रदय के लिए लाभकारी सिद्ध होता है।

मिलता जुलता लेख: वजन कैसे बढ़ाएं?

बढ़ती उम्र को कम करता है

शिलाजीत हमारे शरीर के लिए Anti Aging की तरह काम करता है। जिसका अर्थ ये है की ये हमारी बढ़ती हुई उम्र के लक्षणों को काम करता है। अंततः इसके इस्तेमाल से हमें बढ़ते उम्र में भी कम उम्र का एहसास होता है।

खून की कमी न होने दे

शिलाजीत में आयरन अधिक मात्रा में पायी जाती है। जिससे खून की कमी या एनीमिया से ग्रसित मरीज़ के लिए शिलाजीत का सेवन कर सकते है।

Immunity बढ़ाता है

हमारा शरीर किसी भी बीमारी से लड़ने के लिए कितना सक्षम है। ये इस बात पर निर्भर करता है की हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कैसी है? इसलिए Immunity अर्थात रोग प्रतिरोधक क्षमता हमारे शरीर के लिए काफी अहम् होता है। आपको बता दें, इस मामले में Shilajit की एंटी-ऑक्सीडेंट गुण हमारे शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने में काफी मददगार होता है।

मधुमेह में लाभकारी

शिलाजीत के प्रकार

शिलाजीत को उसके रंग, उसमे पाई जाने वाली धातु और ग्रेड के अनुसार कई वर्गों में वर्गीकृत किया गया है। जो की कुछ इस प्रकार है।

  • स्वर्ण शिलाजीत: इसमें स्वर्ण की मात्रा अधिक होती है और दिखने में ये लाल रंग का होता है।
  • रजत शिलाजीत: इसमें चांदी की मात्रा अधिक होती है और दिखने में ये सेफद रंग का होता है।
  • ताम्र शिलाजीत: इसमें ताम्बे की मात्रा अधिक होती है और दिखने में ये नील रंग का होता है।
  • लौह शिलाजीत: इसमें आयरन की मात्रा अधिक होती है और दिखने में ये काले रंग का होता है।

अंतिम शब्द

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की शिलाजीत क्या है? साथ ही अपने ये भी जाना की शिलाजीत खाने के क्या-क्या फायदे हैं। इस लेख से संबंधित किसी प्रकार की कोई सुझाव, शिकायत या सवाल आपके मन में हो तब निचे कमेंट करके हमें जरूर बतलायें, धयवाद।

FAQs

Q: शिलाजीत खाने से क्या क्या फायदे होते हैं?

उत्तर: शिलाजीत खाने के कई सारे फायदे हैं। जिसमे खून की कमी न होने देने से लेकर, तेज़ी से बढ़ती उम्र को धीमा करना, यादाशत मजबूत करना, मधुमेह को नियंत्रित करने के साथ-साथ Immunity को बढ़ाने जैसे कई सारे लाभकारी फायदे हैं।

Q: क्या मैं शिलाजीत रोज ले सकता हूं?

उत्तर: जी हाँ, शिलाजीत को प्रतिदिन दो बार दूध के साथ लिया जा सकता है।

Leave a Comment