हरयाणा के कूल जिले, राजकीय पशु, पक्षी, फूल पेड़, और रोचक जानकारियां

4.4
(156)

Last Updated on December 13, 2021 by WikiHindi

चाहे बात खानपान की हो या बात हो देश के मान सम्मान को विदेश की धरती पर पहलवानी जैसे खेलों में ऊंचा करने की, हरयाणा कभी भी कहीं कोई कसर नहीं छोड़ता। केवल यही नहीं अगर बात की जाए महाभारत के समय की तब इस पावन धरती ऐसे ही कई सारी युद्धों में शामिल शूरवीरों की गवाही देती आयी है।

इस लेख के माध्यम से आप जानेंगे की हरयाणा में कुल कितने जिले, और प्रमंडल हैं और साथ ही आप इनके क्षेत्रफल को भी जानेंगे और अंत में इस राज्य से जुड़ी कुछ रोचक तथ्यों को भी पढ़ेंगे।

हरयाणा के कूल जिले, राजकीय पशु, पक्षी, फूल पेड़, और रोचक जानकारियां
हरयाणा के कूल जिले, राजकीय पशु, पक्षी, फूल पेड़, और रोचक जानकारियां

हरयाणा बॉर्डर से सटे राज्य और देश

दिशाराज्य / देश
पूर्व (East)उत्तर प्रदेश, दिल्ली
पश्चिम (West)पंजाब, राजस्थान
उत्तर (North)पंजाब, हिमाचल प्रदेश
दक्षिण (South)राजस्थान

हरयाणा एक नज़र में

क्षेत्रफल (Area)44,212 km2
प्रमंडल (Division)6
जिला (District)22
अनुमंडल (Sub Division)72
अंचल (Circle)93
लोकसभा सीटें (No. of Seats in Parliament | Lower House)10
राज्यसभा सीटें (No. of Seats in Upper House)5
विधानसभा सीटें (No. of Seats in State Assembly)90
राजकीय पशुकाला हिरण (Black Buck)
राजकीय पक्षीब्लैक फ्रैंकोलिन
राजकीय फूलकमल (Lotus)
राजकीय पेड़पीपल (Sacred Fig)

हरयाणा की राजधानी, उप-राजधानी और वित्तीय राजधानी

जिलाक्षेत्रफल (km2)
राजधानी चंडीगढ़114
उप-राजधानी
वित्तीय राजधानी

हरयाणा के कूल डिवीज़न

हरयाणा के जिलों को कुल 6 डिवीज़न में बांटा गया है और वह कुछ इस प्रकार हैं।

डिवीज़नजिला
अंबालाअंबाला, पंचकूला, यमुना नगर, कुरुक्षेत्र
फरीदाबादपलवल, नूह, फरीदाबाद
गुरुग्राममहेंद्रगढ़, रेवाड़ी, गुरुग्राम
हिसारजींद, फतेहाबाद, सिरसा, हिसार
रोहतकझाजर, रोहतक, सोनीपत, भिवानी, चरखी दादरी
करनालकैथल, पानीपत, करनाल

हरयाणा के कूल जिले

हरयाणा में वर्तमान में कूल 22 जिले हैं तथा इन जिलों की क्षेत्रफल और जिला कोड कुछ इस प्रकार हैं।

जिलाजिला कोडक्षेत्रफल (km2)
अंबालाAM1574
भिवानीBH3432
चरखी दादरीCD1370
फरीदाबादFR792
फतेहाबादFT2538
गुरुग्रामGU1253
हिसारHI3983
झाजरJH1834
जींदJI2702
कैथलKT2317
कर्नलKR2520
कुरुक्षेत्रKU1530
महेंद्रगढ़MH1859
नूहNH1874
पलवलPL1359
पंचकूलाPK898
पानीपतPP1268
रेवड़ीRE1582
रोहतकRO1745
सिरसाSI4277
सोनीपतSO2122
यमुनानगरYN1768

हरयाणा से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियां

  • प्राचीन काल से लेकर अंग्रेजी हुकूमत तक इस क्षेत्र में काफी सारे युद्ध लड़े गए थे। जिसमे महाभारत का युद्ध से लेकर पानीपत का युद्ध शामिल है।
  • हरयाणा पुरे देश में अपने 100 फीसदी ग्रामीण क्षेत्रों तक बिजली पहुंचाने वाला पहले राज्यों में शुमार है।
  • पुरे भारत वर्ष में बासमती चावल की सबसे अधिक निर्यात इसी राज्य से किया जाता है।
  • जैसा की आप सभी जानते हैं, हरयाणा राज्य का निर्माण भाषा के आधार पर पंजाब से अलग करके किया गया था। इसलिए पंजाब और हरयाणा दोनों राज्य की राजधानी चंडीगढ़ है।
  • इस राज्य का कहीं न कहीं प्राचीन सभ्यता का मेजबानी करने में अहम् योगदान माना जाता है। हरप्पा सभयता की खोज राखीगढ़ी में हुआ था, जो की हिसार जिले तक फैला हुआ है।
  • खेल कूद में देश का मन सम्मान बढ़ाने वालों में हरयाणा आज भी आगे है और यही कारण है की, साल 2010 में आयोजित हुए कामनवेल्थ गेम्स में 38 में से कूल 22 स्वर्ण पदक जितने वाले खिलाडी इसी राज्य के निवासी थे।
  • आज भी कई लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है की देश की राजधानी दिल्ली से सटे हरयाणा का एक जिला गुरुग्राम का इतिहास महाभारत काल का है। ऐसी मान्यता है की गुरु द्रोणाचार्य ने पांडवों और कौरवों को आध्यात्मिक ज्ञान गुरुग्राम में दिया था।
  • ऐसी मान्यता है की की पुरे विश्व का निर्माण ब्रह्मा जी ने यहां स्तिथ ब्रह्मा सरोवर में किया था और इसके लिए इन्होने काफी बड़े यज्ञ का आयोजन भी किया था।
  • आपको ये जानकर हैरान होगी की पानीपत शहर का वर्णन महाभारत में किया गया है। केवल यही नहीं यहां पांडवों ने पांच शहरों का निर्माण कराया था।
  • हरयाणा रोडवेज की बसें पुरे भारत वर्ष में प्रसिद्ध है और इसके पीछे का कारण है, सबसे सस्ता किराया और बस में दिया जाने वाला सुविधा।
  • प्रत्येक वर्ष जून-जुलाई के महीने में पिंजौर स्तिथ मुग़ल गार्डन में एक ख़ास मेले का आयोजन किया जाता है। इस मेले की खास बात ये है की ये मेला ख़ास तौर पर आम के विभिन्न प्रजातियों को दिखाने के लिए लगाया जाता है। इस मेले की शुरुआत 1992 में किया गया था।
  • महाभारत के अनुसार जब भीष्म पितामह तीरों से घायल जमीन पर प्यासे पड़े हुए थे। तब अर्जुन ने अपनी एक बाण से जल धारा का प्रवाह किया था और ये जल धारा आज भी नरकटरी में भीष्म कुंड के नाम से मौजूद है।

अंतिम शब्द

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की हरयाणा में कूल कितने जिले हैं और उनका क्षेत्रफल कितना है। साथ ही आपको हरयाणा से जुड़ी अन्य जानकारी भी मिली। लेख से सम्बंधित किसी प्रकार की कोई त्रुटि हो तब क्षमा करें और हमें निचे कमेंट करके इसकी जानकारी अवश्य दें।

इनसब के अलावा लेख से सम्बंधित किसी प्रकार का कोई सवाल या शंका आपके मन को विचलित करती हो तब आप कमेंट करके हमें अवस्य बतलायें, धन्यवाद।

FAQs

Q: हरयाणा में कूल कितने जिले हैं?

उत्तर: 22 जिले।

Q: हरयाणा में कुल कितने डिवीजन(प्रमंडल) हैं?

उत्तर: 6 प्रमंडल।

आपको जानकारी कैसी लगी?

औसत वोट 4.4 / 5. वोट दिया गया: 156

आपने अब तक वोट नहीं दिया, कृपया वोट दें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Leave a Comment