डाटा एंट्री क्या है? योग्यता, सैलरी और इसके प्रकार

4.5
(143)

Last Updated on October 27, 2021 by WikiHindi

डाटा एंट्री एक ऐसा काम है, जिसे आप अपने घर बैठे कहीं से भी कभी भी अपने इक्षा अनुसार कर सकते हैं। अगर आपका कीबोर्ड पर हाथ साफ़ है तब यह काम बिल्कुल आपके लिए ही बना है। इसके जरिये आप अपनी कमाई में अतिरिक्त इनकम जोड़ सकते हैं।

लेकिन आज भी लोगों के मन में ऐसे सवाल आते हैं की आखिर डाटा एंट्री है क्या? इसके लिए क्या योग्यता होनी चाहिए और साथ यह कितने प्रकार के होते हैं। जैसे कई सारे सवाल हैं जो लोगों के मन में आते हैं। इस लेख के माध्यम से आपके मन में उठ रहे सभी सवालों के जवाब मिलेंगे।

डाटा एंट्री क्या है योग्यता, सैलरी और इसके प्रकार

डाटा एंट्री क्या है?

डाटा एंट्री एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे कागज़ या किसी अन्य दस्तावेज या फिर पिक्चर में दिए गए डाटा को कंप्यूटर में स्तिथ किसी भी डाटाबेस सॉफ्टवेयर में एंटर करना पड़ता है। केवल यही नहीं अगर कोई डाटा वॉइस रिकॉर्डिंग के फॉर्मेट में भी मौजूद हो तब उसे भी डाटाबेस में डाटा एंट्री के जरिये ही एंटर किया जाता है।

डाटा एंट्री के प्रकार

अगर बात की जाये इस जॉब के प्रकार के बारे में तब वर्तमान समय में इस जॉब में आप कई प्रकार के काम कर सकते हैं और वह कुछ इस प्रकार है।

  • डाटा एंट्री कियर:इस प्रकार के जॉब में आमतौर पर किसी पिक्चर या फिर किसी हार्डकॉपी दस्तावेज़ से कंप्यूटर में डाटा एंट्री की जाती है।
  • डाटा एंट्री क्लर्क: इस जॉब के तहत डाटा की एंट्री करने वाले को कीबोर्ड के जरिये किसी एक फॉर्मेट से दूसरे फॉर्मेट में कीबोर्ड में मौजूद अक्षर या नंबर के जरिये डाटा को एंटर किया जाता है।
  • वर्ड प्रोसेसर / टाइपिस्ट: इस तरह के डाटा एंट्री वाले काम में आमतौर पर टेक्स्ट फॉर्मेट वाले डॉक्यूमेंट में एंट्री कराई जाती है या फिर कभी-कभी रिपोर्ट्स भी तैयार करवाए जाते हैं।
  • ट्रांस्क्रिप्शनिस्ट: इस तरह के डाटा की एंट्री वाले काम में आमतौर पर वर्ड या नम्बरों का इस्तेमाल कर काम को अंजाम दिया जाता है, जिसमे किसी भी ऑडियो रिकॉर्डिंग को सुनकर कंप्यूटर में डाटा की एंट्री की जाती है।

डाटा एंट्री के लिए योग्यता

अगर बात की जाए डाटा एंट्री में मांग की जाने वाली योग्यता की तब यह इस बात पर निर्भर करता है की आप डाटा एंट्री के इस काम को ऑनलाइन किसी फ्रीलांसिंग वेबसाइट के जरिये करना चाहते हो या फिर ऑफलाइन स्थाई रूप से किसी ऑफिस में जाकर।

अगर आप इस काम को ऑनलाइन फ्रीलांसिंग के माध्यम से करना चाहते हो तब आपको केवल अपनी कंप्यूटर की योग्यता शाबित करनी पड़ेगी जिसमे माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस जैसे सॉफ्टवेयर पैकेज शामिल है। वहीँ अगर आप ऑफलाइन किसी ऑफिस में इस काम स्थाई रूप से करना चाहते हो तब आपको ऊपर बताये गए योग्यता की जरुरत पड़ेगी ही साथ में आपका कम से कम 12वीं कक्षा पास होने की डिमांड भी की जाती है। कई जगह स्नातक पास होने की भी इमान्द की जाती है।

डाटा एंट्री की सैलरी अर्थात तनख्वाह

जब बात किसी भी काम की आती है तब लोगों के मन में सबसे पहले उठने वाला सवाल यह होता है की सैलरी कितनी मिलेगी? आपको बता दें की इसमें सैलरी बिल्कुल आपके काम करने के तरीकों पर निर्भर करता है की आपकी सैलरी या इनकम कितनी होगी।

अगर आप डाटा एंट्री किसी फ्रीलांसिंग वेबसाइट के जरिये करते हो और यहाँ से मिला हुआ काम आमतौर पर प्रोजेक्ट आधारित होता है, जिसे पूरा करने के बाद पैसे आपके अकाउंट में क्रेडिट कर दिए जाते हैं।

वहीं अगर आप इस काम को किसी कंपनी के अंदर रहते हुए अपने घर से ऑनलाइन करते हो तब आपकी तनख्वाह 12 से 15 हज़ार रूपर प्रति महीने तक हो सकती है।

अगर आप डाटा एंट्री का काम किसी कंपनी के अंदर रहते हुए करते हो और आपका यह काम स्थाई हो तब आपको प्रति महीने दिल्ली जैसे शहर में 15 से 20 हज़ार की तनख्वाह आराम से मिल सकती है।

अंतिम शब्द

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की डाटा एंट्री क्या होता है? साथ ही इस काम को करने के लिए क्या योग्यता चाहिए होती है और अंत में आपने इसके प्रकार को भी जाना। लेख से सम्बंधित किसी प्रकार का कोई सवाल या सुझाव आपके मन में हो तब निचे कमेंट करके हमें अवश्य बतलायें, धन्यवाद्।

इसे भी पढ़ें:

आपको जानकारी कैसी लगी?

औसत वोट 4.5 / 5. वोट दिया गया: 143

आपने अब तक वोट नहीं दिया, कृपया वोट दें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

1 thought on “डाटा एंट्री क्या है? योग्यता, सैलरी और इसके प्रकार”

Leave a Comment