पायलट बनने के फायदे और नुकसान

4.6
(257)

Last Updated on September 28, 2021 by WikiHindi

जब भी बात आती है हवाई यात्रा की तब इस मामले में संयुक्त राज्य अमेरिका टॉप पर मौजूद होता है। क्योंकि वर्ष 2019 में ही केवल 920 मिलियन से ज़्यादा यात्रियों ने हवाई मार्ग से यात्रा किया था। यह सब सम्भव हो सका पायलट के कारण। पायलट का काम ही है यात्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक बगैर किसी समस्या के पहुंचाना। ये काम दिखने में जितना आसान है असल जिंदगी में उतना ही मुश्किल।

इस काम को सिखने के लिए मानसिक स्तिथि के साथ ही वित्तीय स्तिथि भी अच्छी होनी चाहिए, क्यूंकि एविएशन अकादमी की फीस काफी महँगी होती है। अगर आपकी वित्तीय स्तिथि अच्छी नहीं है, तब वैसे हालात आपकी पढ़ाई अच्छी होनी चाहिए क्यूंकि NDA की परीक्षा क्वालीफाई करने के पश्चात भी आप पायलट बन सकते हो, लेकिन इसके जरिये आप कमर्शियल पायलट न बनकर Indian Air Force में पायलट बनोगे।

पायलट बनने के फायदे और नुकसान
पायलट बनने के फायदे और नुकसान

एक पायलट को काफी कड़ी ट्ट्रेनिंग और प्रशिक्षण से गुजरना पड़ता है और उसे किसी भी प्रकार के आपातकालीन परिस्तिथियों में भी कठिनाईओं के सामना करने के लिए तैयार रहना पड़ता है। अगर आप भी एक पायलट बनने सा सपना देख रहे हो तब उससे जुड़े फायदों और नुकसान को अवश्य जान लें ताकि आगे चलकर आपको किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े।

पायलट बनने के फायदे

काफी ज़्यादा महत्वाकांक्षी हो गए हैं, समय से पहले ही उन्हें ज्ञात हो जाता है की उन्हें करना क्या है। कुछ डॉक्टर, तो कुछ इंजीनियर तो वहीँ कुछ पायलट बनने के सपने देखते हैं। पायलट बबने के ऐसे कई सारे फायदे हैं जो युवाओं को आकर्षित करने के लिए काफी हैं।

1. सामाजिक प्रतिष्ठा

पायलट बनने से सबसे बड़ा फायदा यह है की आपके समाज में आपकी एक अलग पहचान बनेगी। इसके साथ ही कई सरे युवा आपको देख कर आपसे प्रेरणा लेंगे और आपकी ही तरह बनने की चेस्टा करेंगे। बाकि अन्य पेशा जैसे डॉक्टर, इंजीनियर और वकील के भाँती ही यह पेशा समाज में काफी ज़्यादा मायने रखता है। यही नहीं समाज में आपके प्रति लोगों का व्यवहार काफी सम्मानजनक और दोस्ताना होगा।

2. उच्च जीवन शैली

चूंकि इस पेशे में आमतौर पर यात्रा होती रहती है, इसलिए इस दौरान कई सारे लोगों से मिलने का भी मौका मिलता और साथ ही आपके उठने-बैठने और विदेशों में रहने का प्रबंध भी आपकी कंपनी द्वारा ही किया जाता है। इसलिए आपके जीवनशैली का स्तर हमेशा ऊँचा ही रहता है।

3. अच्छी आय

पेशे से एक पायलट होने के नाते आपको कभी पैसे की तंगी हो ही नहीं सकती क्यूंकि आमतौर पर इस क्षेत्र में काम कर रहे लोगों का वेतन हमेशा ही ज़्यादा होता है। ऐसा माना जाता है की इस सेवा क्षेत्र में काम कर रहे पायलट की तनख्वा कम-से-कम 6 अंकों में तो होती ही है।

4. यात्रा की संभावनाएं

अगर आपको विभिन्न देशो की यात्रा करना और घूमना-फिरना काफी पसंद है तब यह पेशा आपको और भी ज़्यादा आकर्षित कर सकता है। आप एक पायलट के तौर पर अपने सपनो की उड़ान को भी पूरा कर सकते हैं। यह बिल्कुल एक तीर से तीन कमान चलाने वाली बात जैसी लगेगी।

क्योंकि पायलट के रूप में आप अपने और अपने परिवार वालों के लिए रोजी-रोटी कमा सकते हैं, दूसरा आप अपनी नित कार्य के तहत किसी भी देश में उड़ान भर सकते हैं और तीसरा आपको अपने गंत्वय देश में ठहरने के लिए होटल के बिल्स का भुगतान भी नहीं करना पड़ेगा।

5. अतिरिक्त फायदे

पायलट के तौर आपको केवल विदेश या विभिन्न शहरों को घूमने का मौका नहीं मिलता। इसके साथ-साथ एक पायलट को वह किसी भी बड़े 3 या 5 स्टार होटल में ठहरने से लेकर खान-पान की पूरी व्यवस्था रहती है। यात्राओं के दौरान भिन्न-भिन्न लोगों से मिलकर उनकी संस्कृति को जानने का भी मौका मिलता है एक पायलट को।

पायलट के नुकसान या कमियां

पायलट की नौकरी में मिलने वाले फायदे काफी आकर्षक होते हैं। लेकिन बहार से आकर्षक दिखने वाली यह नौकरी उतनी भी आकर्षक नहीं होती जितना की लोग सोचते हैं। पायलट के पेशे में भी कई सारी कमियां और नुकसान है जिसकी जानकारी होनी आपके लिए काफी आवश्यक है।

1. महँगी प्रशिक्षण और पढ़ाई

पायलट से जुडी पढ़ाई और प्रशिक्षण की कीमत कई लाख रूपए में होती है। जिसे एक आम मध्यम वर्गीय परिवार के बच्चों के लिए इंतज़ाम कर पाना काफी मुश्किल होता है। इसके अलावा अगर कोई बैंक लोन के माध्यम से इस क्षेत्र में अपना करियर बनाने की इक्षा रखता है तब उसे और उसके परिवार वाले काफी क़र्ज़ में डूब जाते हैं। केवल यही नहीं ऐसे प्रशिक्षण कॉलेज और केंद्रों में सीट की काफी कमी होती है और इनमे दाखिला लेना भी किसी सरदर्द से कम नहीं।

2. स्वास्थ सम्बन्धी समस्या

दूसरी सबसे बड़ी कमी इस पेशे में यह है की लगातार विभिन्न समय जोन में यात्रा करने से एक पायलट के स्वस्थ पर भी काफी बुरा असर पड़ता है। कुछ शोध से यह भी सामने आया है की एक पायलट का औसत उम्र एक आम इंसान या नागरिक के तुलना में काफी कम होता है। अकसर ऊंचाई में रहने के कारण उनका संपर्क विकरण से ज़्यादा होता है जिससे उन्हें कैंसर जैसी बिमारियों का भी खतरा काफी ज़्यादा होता है।

3. जॉब सिक्योरिटी

जॉब सिक्योरिटी इस पेशे का सबसे बड़ा कमी माना गया है। हाल ही में जब पुरे देश और दुनिया में कोरोना के कारण लोखड़ौन की स्तिथि उत्पन्न हुई थी तब कई सारे विमान सेवा देने वाले कंपनी का कार्य ठप होने के कारण कंपनी वित्तीय घाटे में चली गयी। इस कारन कई सारे पायलट्स को अपनी नौकरी गवानी पड़ी। हालाँकि धीरे-धीरे वक़्त के साथ चीज़ें बदल रही है और पायलट्स को वापस नौकरी पर कंपनी रखने लगी है।

4. व्यस्तता

पायलट के पेशे में समय की बड़ी पाबंधी रहती है, उनके एक-एक मिनट काफी कीमती होते हैं। अगर एक मिनट की भी देरी हो जाये तब कभी कभी विमानन सेवा कंपनी को कभी कभी लाखों का नुकसान उठाना पड़ जाता है। कभी-कभी परेशानी तो तब बढ़ जाती है जब मौसम खराब होने के कारण उड़ान में देरी होती है और एक यात्रा पूरी होने पर उन्हें दूसरी यात्रा के लिए भी की जल्द से जल्द तैयार होना पड़ता है।

5. जिम्मेदारियों का भार

हवाई यात्रा के दौरान प्लेन में सफर कर रहे सभी यात्रियों की जिम्मेदारी हमेशा ही पूर्ण रूप से पायलट पर निर्भर रहती है। मौसम अच्छी हो या हो खराब परिस्तिथि कैसी भी क्यों न हो पायलट हर तरफ से यह सुनिश्चित करता और यह उसकी ही जिम्मेदारी होती है प्लेन को सुरक्षित रूप से एयरपोर्ट पर लैंड करवाए। भगवान न करे अगर किसी तरह की कोई तकनिकी गड़बड़ी भी उड़ान के दौरान प्लेन में आती है तब भी पायलट ही वह शख्स होता जिसे सब को नियंत्रित करना पड़ता है।

अंतिम शब्द

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की पायलट बनने के क्या-क्या फायदे हैं और इसके क्या नुकसान और कमियां हैं। लेख से सम्बंधित किसी तरह की कोई सवाल, शिकायत या सुझाव आपके मन में हो तब निचे कमेंट करके हमें अवश्य बतलायें, धन्यवाद।

इसे भी पढ़ें:

आपको जानकारी कैसी लगी?

औसत वोट 4.6 / 5. वोट दिया गया: 257

आपने अब तक वोट नहीं दिया, कृपया वोट दें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

शेयर करने के लिए कोई एक चुने

1 thought on “पायलट बनने के फायदे और नुकसान”

Leave a Comment