इलेक्ट्रिक कार (EV Car) के फायदे और नुकसान

Electric Car (इलेक्ट्रिक कार) या कहें बैटरी वाली कार, ऑटोमोटिव इंडस्ट्री के लिए बिल्कुल ही एक नयी कांसेप्ट है। कुछ कपनियां अब इलेक्ट्रिक कार को पूरी तरह इलेक्ट्रिक के रूप में विकसित कर रही है। तो वहीं कुछ कंपनियां आज भी हाइब्रिड कार के रूप में Electric Car की कुछ फीचर, पेट्रोल-डीज़ल से चलने वाली गाड़ियों के साथ दे रही है।

इलेक्ट्रिक कार का एक मात्र उपयोग पैसे बचाना नहीं है, बल्कि इलेक्ट्रिक कार का उद्देश्य स्वस्थ और शुद्ध वातावरण को बढ़ावा देना भी है। क्योंक पेट्रोल-डीज़ल वाली कारें वातावरण में भारी मात्रा में कार्बन का उत्त्सर्जन करती है। जो वातावरण को हद से ज़्यादा दूषित करती है।

इलेक्ट्रिक कार के फायदे और नुकसान
इलेक्ट्रिक कार

केवल यही नहीं Green House Effect को बढ़ाने में ऐसी वाहनों का भी बहुत बड़ा योगदान रहा है। तब ऐसे हालात में Electric Car को एक वरदान के रूप में भी देखा जा रहा है। जैसे- जैसे लोग पर्यावरण के प्रति जागरूक हो रहे हैं, वैसे-वैसे लोग Electric Car या अन्य इलेक्ट्रिक वाहन की डिमांड में काफी इजाफ़ा देखने को मिल रहा है। यही कारण है की अब कार कंपनियां Electric Car बनाने में और इसके प्रचार-प्रसार में रुचि दिखाने लगी है।

मिलता जुलता लेख: फेसबुक अकाउंट डिलीट कैसे करें?

अगर आप भी एक इलेक्ट्रिक कार खरीदने की सोच रहे हैं। तब आपके मन में ऐसे बहुत सारे सवाल होंगे जो आपको विचलित करते होंगे। इस लेख के माध्यम से आप इलेक्ट्रिक कार या फिर कहें इलेक्ट्रिक गाड़ियों के फायदे और नुकसान के बारे में पढ़ेंगे जो आपको इलेक्ट्रिक गाड़ी को खरीदने से पहले फैसले लेने में कुछ हद्द तक अवश्य मदद करेगी।

इलेक्ट्रिक कार के फायदे

चाहे बात पर्यावरण की हो, या बात हो सस्ते ईंधन की, Electric Car कार लोगों की ऐसी सभी जरूरतों पर खड़ी उतरती है। ये सुविधाजनक होने के साथ ही कम खर्चीली है। इसके अलावा Electric Car के ऐसे कई अन्य फायदे हैं। जिसके बारे में नीचे बाते की गयी है।

1. महंगे ईंधन से छुटकारा

इलेक्ट्रिक कार में मौजूद बैटरी को आप अपने घर पर ही बिजली के सॉकेट से जोड़ कर चार्ज कर सकते हैं और किसी भी ईंधन की तुलना में काफी सस्ती पड़ती है। इलेक्ट्रिक कार का सबसे बड़ा फायदा ये है की आपको बार-बार पेट्रोल पंप के चक्कर लगाने नहीं पड़ेंगे। जब आप घर पर सो रहे या ऑफिस में ही क्यों न हो आप इसे कहीं भी बढ़ी आसानी से चार्ज कर सकते हो।

इसके अलावा अत्यधिक पैसों की बचत की इक्षा रखने वाले लोग, अपने घर की छतों पर सोलर पैनल लगवाकर भी इलेक्ट्रिक वाहन को चार्ज कर सकते हैं।

2. सुविधाजनक

इलेक्ट्रिक कार को चार्ज करने की प्रक्रिया काफी आसान है। EV Car को चार्ज करना किसी फ़ोन को चार्ज करने जितना ही आसान है। इसके लिए आपको केवल चार्ज के एक हिस्से को अपनी कार में और तो वहीं दूसरे हिस्से को बिजली के बोर्ड में लगानी पड़ती है।

3. बचत

बिजली की प्रति यूनिट दर ईंधन से काफी कम है। Electric Car में प्रति किलोमीटर चलने की खर्च काफी कम होती है। जिससे आपके पॉकेट पर ज़्यादा भार नहीं पड़ता और कम पैसों में भी आप अपनी कार से ट्रिप का प्लान कर सकते हो, वो भी बगैर पैसों के बारे में सोचे हुए। इलेक्ट्रिक कार पैसों की बचत करने का मुख्य जरिया बनता है।

मिलता जुलता लेख: इलेक्ट्रिक स्कूटर के फायदे और नुकसान

4. हानिकारक गैस उत्सर्जित नहीं होता

इलेक्ट्रिक कार किसी भी पर्यावरण प्रेमी का पहला पसंद हो सकता है। इसके पीछे का सबसे बड़ा और मुख्य कारण है इसके इंजन से किसी भी तरह की प्रदूषित गैस का बाहर नहीं निकलना। जिस तकनीक से आपके घर में लगे पंखे चलते हैं, ठीक उसी तकनीक पर इलेक्ट्रिक कार भी चलती है।

इसमें पहियों को चलाने के लिए मोटर लगे होते है और इन मोटरों को बिजली कार में लगे बैटरी से मिलती है। चूँकि इस प्रक्रिया में कहीं भी ईंधन का दहन शामिल नहीं है, इसलिए इससे हानिकारक गैसों का उत्त्सर्जन नहीं होता।

5. सुरक्षित है

जिस टेस्टिंग प्रक्रिया से पेट्रोल या डीजल से चलने वाली कार गुजरती है, ठीक उसी प्रक्रिया से इलेक्ट्रिक कार भी गुज़रती है। इलेक्ट्रिक कार को भी सभी सुरक्षा से जुड़े मानकों पर खड़ा उतरना आवश्यक होता है। इलेक्ट्रिक कारों का सुरक्षित होने का सबसे मुख्य कारण है इसमें Combution Engine का नहीं होना।

क्यूंकि किसी कारणवश अगर इलेक्ट्रिक कारें दुर्घटनगरषत होती है। तब इस गाड़ी में लगे सेंसर खुद ही बिजली की सप्लाई को बंद कर देता है और आग लगने जैसी घटनाओं की आशंका कम हो जाती है।

6. रख-रखाव में कम खर्च

इलेक्ट्रिक गाड़ियां बिजली के इस्तेमाल से मोटर के जरिये चलती है, इसमें किसी प्रकार का कोई Combution नहीं होता है, और नाही इसमें Lubricants या Mobile जैसी तरल पदार्थ की आवश्यकता पड़ती है। यही कारण है की इलेक्ट्रिक गाड़ियों के रख-रखाव में काफी कम पैसे खर्च होते हैं। अन्य गाड़ियों की तरह इसे समय-समय पर सर्विसिंग के लिए सर्विस स्टेशन भेजने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

7. ध्वनि प्रदुषण नहीं करता

इलेक्ट्रिक कार का इंजन काफी शांत होता है क्यूंकि इसमें प्रयुक्त होने वाले इंजन में किसी तरह का कोई Combution नहीं होता है। उच्च acceleration के दौरान भी इसके इंजन से किसी तरह की कोई ध्वनि उत्तपन्न नहीं होती है। बाकायदा अगर कोई इलेक्ट्रिक कार आपके पास से गुज़रती है, तब भी आपको इसके पार होने की अहसास नहीं होगी।

8. बैटरी की लाइफ और इसकी कीमत

इलेक्ट्रिक वाहनों में प्रयुक्त होने वाले बैटरी लिथियम आयन से बनी होती है, और यह कई सालों तक बगैर किसी दिक्कत के चलती है और Compatible होने के साथ ही इसकी रेंज भी काफी ज़्यादा होती है। बैटरी में लगातार हो रहे खोज की वजह से इसकी कीमतों में पिछले कुछ वर्षों में काफी गिरावट भी देखी गयी है।

एक अच्छी लिथियम आयन बैटरी की उम्र लगभग 8 से 10 साल की होती है और आम तौर पर इलेक्ट्रिक कार की बैटरी 6 -7 वर्षों तक बगैर किसी समस्या के चलती है।

9. चलाना काफी आसान है

इलेक्ट्रिक वाहन चाहे वो दो पहिये वाली हो या चार पहिये वाली, इन्हे ईंधन से चलने वाले वाहनों की तुलना में चलाना और चलाना सीखना काफी आसान है। क्योंकि इस तरह के वाहन में गियर जैसी कोई चीज़ नहीं होती, तो इसलिए इसमें क्लच की भी आवश्यकता नहीं पड़ती। इलेक्ट्रिक वाहन में दो चीज़ें मुख्य रूप से मौजूद होती है, जिसमे पहला है ब्रेक और दूसरा है Accelerator

10. ब्रेक लगाने पर बैटरी होती है चार्ज

जी हाँ आपने सही पढ़ा आमतौर पर ईंधन से चलने वाली गाड़ियों में जब ब्रेक लगाया जाता है, तब ब्रेकिंग के दौरान जो ऊर्जा इससे निकलती है, वो उष्णीय ऊर्जा में तब्दील होकर उड़ जाती है। लेकिन इलेक्ट्रिक कार या वाहन में ब्रेक लगाने पर बनी ऊर्जा उड़ने के बजाय, इसका उपयोग बैटरी को चार्ज करने में किया जाता है।

इलेक्ट्रिक कार के नुकसान

हालांकि इलेक्ट्रिक कार के क्या-क्या फायदे हैं? इसके बारे में तो आप समझ ही गए होंगे। लेकिन इलेक्ट्रिक कार या वाहन में ऐसी कई सारी कमियां आज भी मौजूद है, जिसमे किसी आम इंसान ख़ास कर माध्यम वर्गीय परिवार को निवेश करने से पहले एक बार जरूर सोच विचार कर लेनी चाहिए। इसके कारण कुछ इस प्रकार हैं:

1. बिजली बिल्कुल भी मुफ्त नहीं है

सबसे पहली समस्या यह है की इलेक्ट्रिक वाहन को चार्ज करने में जिस बिजली की आवश्यकता पड़ेगी वह मुफ्त नहीं है। अगर आप देश की किसी ग्रामीण क्षेत्र के निवासी हैं तब आपके लिए यह थोड़ी सस्ती हो सकती है लकिन अगर आप दिल्ली, मुंबई, कोलकाता जैसे महानगर या लखनऊ, जयपुर जैसे बड़े शहर में रहते हैं तब प्रति यूनिट बिजली की दर आज भी महँगी है।

लेकिन ध्यान रखने वाली बात यह है की बिजली की दर महँगी होने के बाद भी यह पेट्रल और डीजल ईंधन की तुलना में काफी सस्ती है।

2. रिचार्ज पॉइंट

इलेक्ट्रिक कार या वाहन खरीदने वाले लोगो की सबसे बड़ी समस्या ये है की इसे चार्ज कहाँ किया जाये? ईंधन से चलने वाली गाड़ियों को तो पेट्रोल पंप पर जाकर टंकी फुल किया जा सकता है। लेकिन इलेक्ट्रिक कार को सफर के दौरान चार्ज करना आज भी बड़ी समस्या है। भारत में इलेक्ट्रिक कार या वाहन के लिए चार्जिंग पॉइंट की काफी किल्लत है इसलिए ज़्यादातर लोग इसे लम्बी दुरी के बजाय केवल शहरों में इस्तेमाल के उद्देश्य से खरीदना पसंद करते हैं।

3. ड्राइविंग रेंज

एक बार फुल चार्ज करने पर वर्तमान में भारत में उपलब्ध इलेक्ट्रिक कारें 210-320 किलोमीटर की रेंज देती है। जो की असल मायने में देखा जाये तो काफी कम है और इतनी कम रेंज के कारण आप इस गाडी से ज़्यादा दुरी तय नहीं क्र सकते और रिचार्ज पॉइंट की कम उपलब्धता एक दूसरी कारण है की लोग इस वाहन को लम्बी दुरी के लिए इस्तेमाल करने लायक आत्मविश्वास नहीं जगा पाते।

4. रिचार्ज में लगने वाला समय

इलेक्ट्रिक कार या वाहन की बैटरी को 0 से 100 प्रतिशत तक रिचार्ज करने में 8-9 घंटों की समय लगती है। 8 से 9 घंटे का समय लग्न अभी के भाग-दौर वाली ज़िंदगी में एक समस्या है। गर किसी कारणवश को आपातकाल समस्या आ जाए और आपकी गाड़ी चार्ज न हो तब तो आपके लिए और बड़ी समस्या पैदा हो सकती है। इसलिए यह आज भी सबसे बड़ा कारण है की लोग इलेक्ट्रिक कार या वाहन को खरीदने से पहले हिचकिचाते हैं।

5. विकल्प की कमी

ईंधन से चलने वाली गाड़ियों के लिए अभी भी एक प्राइस रेंज में विभिन्न प्रकार की कंपनियों की कार का भरमार है। लेकिन इलेक्ट्रिक कार या वाहन के साथ परिस्तिथि बिल्कुल इसके उलट है। मुश्किल से आपको एक ही प्राइस रेंज में इलेक्ट्रिक वाहनों के विकल्प देखने को मिलेंगे। ऐसी परिस्तिथि में इलेक्ट्रिक वाहन खट्टी अनुभव दे जाती है और फिर मजबूरन आप ईंधन युक्त गाड़ी खरीदने का मन बना लेते हैं।

अंतिम शब्द

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की इलेक्ट्रिक कार के क्या फायदे हैं और साथ ही अपने इससे जुड़े संभावित नुकसान के बारे में भी पढ़ा। लेख से सम्बंधित किसी प्रकार का कोई सवाल, सुझाव या शिकायत हो तब निचे कमेंट करके हमें अवश्य बताएं, धन्यवाद।

इसे भी पढ़ें:

FAQ’s

Q: क्या इलेक्ट्रिक कार पेट्रोल से भी चलती है?

उत्तर: इलेक्ट्रिक कार पेट्रोल से तो नहीं चलती। लेकिन हाइब्रिड कारों में पेट्रोल और बैटरी दोनों से चलने की सुविधा होती है।

Q: इलेक्ट्रिक कार में कौन सी बैटरी यूज होती है?

उत्तर: इलेक्ट्रिक कार या बाकी अन्य इलेक्ट्रिक वाहनों में आमतौर पर लिथियम आयन बैटरी का इस्तेमाल किया जाता है।

FAQ’s

5 thoughts on “इलेक्ट्रिक कार (EV Car) के फायदे और नुकसान”

Leave a Comment