ओड़िशा के कूल जिले, राजकीय पशु, पक्षी, फूल पेड़, और रोचक जानकारियां

4.6
(79)

Last Updated on September 12, 2021 by WikiHindi

जग्गनाथ पूरी यात्रा के लिए प्रसिद्द ओड़िशा राज्य तीर्थ के साथ-साथ और कई सारे मायनों में वभारत के लिए एक अहम् राज्य है। ओड़िशा में समुद्र किनारे स्तिथ बीच हो या फिर यहाँ के जनाजतियों के वेश-भूषा और परम्परा। इस लेख के माध्यम से आप जानेंगे की ओड़िशा में कुल कितने जिले, और प्रमंडल हैं और साथ ही आप इनके क्षेत्रफल को भी जानेंगे और अंत में इस राज्य से जुड़ी कुछ रोचक तथ्यों को भी पढ़ेंगे।

ओड़िशा के कूल जिले, राजकीय पशु, पक्षी, फूल पेड़, और रोचक जानकारियां
जग्गनाथ पूरी

ओड़िशा बॉर्डर से सटे राज्य और देश

दिशाराज्य / देश
पूर्व (East)बंगाल की खाड़ी
पश्चिम (West)छत्तीसगढ़
उत्तर (North)पश्चिम बंगाल और झारखण्ड
दक्षिण (South)आंध्र प्रदेश

ओड़िशा एक नज़र में

क्षेत्रफल (Area)1,55,707 km2
प्रमंडल (Division)3
जिला (District)30
अनुमंडल (Sub Division)58
अंचल (Block)314
लोकसभा सीटें (No. of Seats in Parliament | Lower House)21
राज्यसभा सीटें (No. of Seats in Upper House)10
विधानसभा सीटें (No. of Seats in State Assembly)147
राजकीय पशुसाम्भर हिरण
राजकीय पक्षीभारतीय रोलर
राजकीय फूलअशोका
राजकीय पेड़पीपल

ओड़िशा की राजधानी, उप-राजधानी और वित्तीय राजधानी

जिलाक्षेत्रफल km2
राजधानी भुवनेश्वर442
उप-राजधानी
वित्तीय राजधानी

ओड़िशा के कूल डिवीज़न

ओड़िशा के 30 जिलों को कुल 3 डिवीज़न में बांटा गया है और वह कुछ इस प्रकार हैं।

प्रमंडल
(Division)
मुख्यालय
(HeadQuarter)
जिला
(District)
सेंट्रल डिवीज़नकट्टककट्टक, जगतसिंघपुर, केंद्रपाड़ा, जाजपुर, पूरी, खोर्धा, नयागढ़, बालासोर, भद्रक, मयूरभंज।
नार्थ डिवीज़नसम्बलपुरसम्बलपुर, बरगढ़, झारसुगुड़ा, देबगढ़, बलंगीर, सुबर्णपुर, ढेंकानाल, अंगुल, केंदूझार, सुंदरगढ़।
साउथ डिवीज़नबरहामपुरगंजम, गजपति, कंधामाल, कलहंदी, नुआपाड़ा,कोरापुट, रायगढ़ा, नबरंगपुर, मलकानगिरी, बौध।

ओड़िशा के कूल जिले

ओड़िशा में वर्तमान में कूल 30 जिले हैं तथा इन जिलों का क्षेत्रफल कुछ इस प्रकार हैं।

जिलाक्षेत्रफल km2
अंगुल6376
बौध3098
बालांगीर6575
बरगढ़5837
बालासोर3806
भद्रक2505
कट्टक3932
देबगढ़2940
ढेंकनाल4452
गंजम8206
गजपति4325
झारसुगुड़ा2114
जाजपुर2899
जगतसिंघपुर1668
खोर्धा2813
केंदूझार8303
कालाहांडी7920
कंधामाल8021
कोरापुट8807
केंद्रपाड़ा2644
मलकानगिरी5791
मयूरभंज10418
नबरंगपुर5291
नुआपाड़ा3852
नयागढ़3890
पूरी3479
रायगढ़7073
सम्बलपुर6624
सुबर्णपुर2337
सुंदरगढ़9712

ओड़िशा से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियां

  • भुबनेश्वर शहर का इतिहास लगभग 3000 साल पुराना है, और यहाँ करीब 600 मुख्य प्राचीन मंदिरें मौजूद है।
  • मायुर्भज शहर में लगभग 3 बिलियन साल पुराने पत्थरों के पहाड़ मौजूद हैं। ऐसी मान्यता है की हमारा पृत्वी का अस्तित्व लगभग 4.5 बिलियन साल ही पुरानी है।
  • ओड़िशा में आज भी 62 ऐसी जनजातियां रहती हैं जिनका अपना एक अलग ही संस्कृति है और ये सभी एक दूसरे से काफी अलग हैं।
  • कोणार्क मंदिर को 13वीं सदस्य में बनाया गया था और इस मंदिर का निर्माण 12 चक्र के ऊपर किया गया था। जो दिन के 24 घंटो को दर्शाता है।
  • आपने लीनिंग टावर ऑफ़ पिसा के बारे में सुना होगा जो की इटली में स्तिथ है और वैसा ही एक मंदिर सम्बलपुर जिले में स्तिथ है जिसे लोग लीनिंग टेम्पल ऑफ़ ह्यूमा के नाम से जानते हैं।
  • चांदीपुर में स्तिथ समुद्री बीच किसी छुपा-रुस्तम से कम नहीं है क्युकी प्रत्येक ज्वार के पश्चात 5 किलोमीटर तक इसकी परिस्तिथि में बदलाव देखा जाता है।
  • चिलिका झील कई विलुप्त होते जलीय जीव और पक्षियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है और इस झील की खूबसूरती के साथ इस झील को महसूस करने लोग पुरे देश भर से आते हैं।
  • हीराकुंड बांध जो की ओड़िशा के सम्बलपुर जिले में स्तिथ है, यह दुनिया का चौथा सबसे लम्बा बाँध है और साथ ही इस बांध के वजह से मानव निर्मित झील की गिनती दुनिया में सबसे पहले आती है।
  • सिमलीपाल वन्यजीव अभ्यारण रॉयल बंगाल टाइगर के रहने के लिए एक अनुकूल स्थान है और यहाँ लगभग 100 रॉयल बंगाल टाइगर मौजूद हैं।
  • भुवनेश्वर में स्तिथ नंदन कानन जूलॉजिकल पार्क में दुर्लभ प्रजाति के 34 सफ़ेद शेर मौजूद हैं।
  • पूरी स्तिथ जग्गनाथ मंदिर भक्तों के बिच आकर्षण का केंद्र है और प्रत्येक वर्ष यहाँ आयोजित होने वाली रथ यात्रा श्रद्धालुओं के लिए काफी मायने रखती है। इस मंदिर से जुड़ी एक रोचक तथ्य यह है की इस मंदिर में स्तिथ रसोईघर में करीब 400 रसोइये काम करते हैं और प्रत्येक दिन यहाँ लाखों की संख्या में श्रद्धलुओं के लिए प्रसाद बनाया जाता है।
  • ओड़िशा में करीब 4.5 करोड़ लोग बोलचाल में ओड़िया भाषा का प्रयोग करते हैं। आपको जानकर यह हैरानी होगी की ओडिया भाषी लोग केवल ओडिशा में ही नहीं है बल्कि बांग्लादेश, मलेशिया, पाकिस्तान, श्रीलंका और बर्मा जैसे देशों में भी ओडिया भाषा का प्रयोग बोलचाल में किया जाता हैं।
  • कहन्दीपुर शहर के दक्षिण में स्तिथ एक द्वीप जिसका नाम देश के मिसाइल मैन Dr. A.P.J Abdul Kalam जी के नाम पर रखा गया है। यहाँ आज भी प्रमुख मिसाइलों का परीक्षण किया जाता है।
  • आप इस बात की कल्पना भी नहीं कर सकते की ओड़िशा जैसे राज्य में कश्मीर की भाँती बारिश हो सकती है, पर यह शाट प्रतिशत सत्य है क्यूंकि ओड़िशा स्तिथ DaringBadi नामक स्थान पर सर्दियों के दिनों में बर्फ़बारी होती है। यही कारण है की लोग इसे ओड़िशा का कश्मीर के नाम से भी जानते है।

इसे भी पढ़ें:

बिहार के कूल जिले, उप और वित्तीय राजधानी, डिवीज़न और क्षेत्रफल

मिजोरम के कूल जिले, राजकीय पशु, पक्षी, फूल पेड़ और रोचक जानकारियां

त्रिपुरा के कूल जिले, राजकीय पशु, पक्षी, फूल पेड़, और रोचक जानकारियां

अंतिम शब्द

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की ओड़िशा में कूल कितने जिले हैं और उनका क्षेत्रफल कितना है। साथ ही आपको ओड़िशा से जुड़ी अन्य जानकारी भी मिली। लेख से सम्बंधित किसी प्रकार की कोई त्रुटि हो तब क्षमा करें और हमें निचे कमेंट करके इसकी जानकारी अवश्य दें। इनसब के अलावा लेख से सम्बंधित किसी प्रकार का कोई सवाल या शंका आपके मन को विचलित करती हो तब आप कमेंट करके हमें अवस्य बतलायें, धन्यवाद।

इसे भी पढ़ें:

FAQs

Q: ओड़िशा में कुल कितने जिले हैं?

उत्तर: 30 जिले।

Q: ओड़िशा में कुल कितने डिवीजन(प्रमंडल) हैं?

उत्तर: 3 प्रमंडल।

आपको जानकारी कैसी लगी?

औसत वोट 4.6 / 5. वोट दिया गया: 79

आपने अब तक वोट नहीं दिया, कृपया वोट दें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

शेयर करने के लिए कोई एक चुने

Leave a Comment